Wednesday, September 30, 2009

गर्भाशय संबंधी रोग (Uterus Diseases)

गर्भाशय संबंधी रोग (Uterus Diseases)

गर्भाशय का टलना(Prolapse of the Uterus)

लक्षण: पेट और कमर के निचले हिस्‍से में बैचेनी, ऐसा आभास होना कि कुछ नीचे आ रहा है, माहवारी में अधिक स्राव, कम मात्रा में योनि स्राव, बार-बार पेशाब आना, सम्‍भोग में कठिनाई।

कारण: भोजन ठूस-ठूस कर खाना, गैस, पुरानी कब्‍ज, तंग कपड़े पहनना। पेट की कमजोर आंतरिक मांसपेशियॉं, व्‍यायाम की कमी, अन्‍य दूसरे रोग, प्रसव(Delivery) के समय बरती गई असावधानियॉं।

गर्भाशय की सूजन ( Inflammation of the Uterus)

लक्षण: हल्‍का बुखार, सिरदर्द, भूख न लगना, कमर और पेट के निचले भाग में दर्द, योनि में खुजलाहट।

कारण: माहवारी के समय ठंड लग जाना, अधिक सहवास, गर्भाशय का टलना, औषधियों का सेवन, गलत आहार-विहार।

गर्भाशय संबंधी रोगों का उपचार:

चार-पांच दिन केवल रसाहार, फिर अपक्‍वाहार और फिर संतुलित आहार पर आयें।

नमक, मिर्च-मसाला, तली-भुनी, मिठाईयां इत्‍यादि से परहेज रखें।

पेट पर मिट्टी पट्टी, एनिमा, गर्म ठंडा कटिस्‍नान करें, टब में नमक डालकर पन्‍द्रहबीस मिनट तक बैठें।

प्रतिदिन दो-तीन बार एक-दो घंटा पांव को एक फुट ऊंचा उठाकर लेटें। पूर्ण विश्राम एवं शवासन करें।

2 comments:

  1. Nice Info! There are many people who wish to get the medicines online at the best market price.

    Best Online Pharmacy Store in USA | MTP Kit for Abortion

    ReplyDelete
  2. I wish to convey my gratitude for your kindness for visitors who absolutely need assistance with that idea. Your real dedication to passing the message all over had been pretty practical and has without exception enabled associates much like me to realize their targets. Your own warm and friendly key points indicates a lot to me and extremely more to my mates. With thanks; from each one of us.  Cara Meyembuhkan Kutil Kelamin Alami Tanpa Operasi

    ReplyDelete